महात्मा गांधी जी के बारे में 5 बातें जो सरासर झूठ है

News OMG

जब से सोशल मीडिया आया है असली और नकली जानकारी के बीच में फर्क करना पहले के मुकाबले काफी मुश्किल हो गया है. फेक न्यूज़ और मॉर्फ्ड फ़ोटोज़ ने सच और झूठ के फर्क को धुंधला कर दिया है. आज गांधी जयंती के मौके पर हम आपको ऐसी 5 बातों के बारे में बता रहे हैं जो गांधीजी से जुड़ी हुई हैं लेकिन पूरी तरह झूठ हैं.

गांधी विद वुमन:
एक और फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल की जाती है जिसमें गांधी एक लड़की के काफी करीब नज़र आ रहे हैं. आपको बता दें कि ये असल फोटो नेहरु के साथ है और मॉर्फ्ड कर इसमें नेहरु की जगह लड़की को जोड़ दिया गया है.

गांधी ने नहीं कहीं ये तीन बातें:
– गांधी के सबसे मशहूर कोट्स में एक- ‘आंख के बदले आंख की लड़ाई पूरी दुनिया को अंधा बना देगी’ को गांधी ने कभी कहा ही नहीं था. इतिहास में ऐसा कोई सबूत मौजूद नहीं जो ये साबित कर सके कि ये बात गांधी ने कही थी. असल में बेन किंग्सले की फिल्म ‘गांधी’ में ये एक डायलॉग था जिसे गांधी का कहा हुआ मान लिया जाता है.

– इसके आलावा ‘दुनिया में जो बदलाव चाहते हो वो खुद से शुरू करो’ ये बात भी गांधी ने कही है इसका कोई प्रमाण नहीं है. गांधी व्यक्तिगत शुद्धता के पैरोकार तो थे लेकिन हमेशा ये भी कहते थे कि बदलाव तभी आएगा जब हम ये भी समझेंगे कि बाकी लोग क्या चाहते हैं.

– तीसरी बात जो गांधी के नाम पर प्रचारित की जाती है वो है- ‘ऐसे जीयो जैसे कल मरना है’. बता दें कि गांधी ने ऐसा भी कभी नहीं कहा था. उन्होंने पढ़ाई के सन्दर्भ में ऐसा ज़रूर कहा था कि- ‘पढ़ाई ऐसे करनी चाहिए जैसे कल जिंदगी का आखिरी दिन है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *